28वें व्यास सम्मान, 2018

0
301
  • 14 मार्च, 2019 को वर्ष 2018 के 28वें व्यास सम्मान से हिंदी की प्रसिद्ध लेखक लीलाधर जगूड़ी को पुरस्कृत किए जाने की घोषणा की गई।
  • के.के. बिड़ला फाउंडेशन द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रसिद्ध साहित्यकार विश्वनाथ प्रसाद तिवारी की अध्यक्षता वाली समिति ने वर्ष 2013 में प्रकाशित उनके कविता संग्रह जितने लोग उतने प्रेम को पुरस्कार हेतु चयनित किया है।
  • 2004 में उनको पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।
  • इसके अतिरिक्त उनको अनुभव के आकाश में चांद के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार भी प्राप्त हुआ है।
  • उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के सम्मान, उत्तराखंड गौरव सम्मान, रघुवीर सहाय सम्मान, भारतीय भाषा परिषद शतदल सम्मान, नमित पुरस्कार, आकाशवाणी पुरस्कार आदि से वह सम्मनित हो चुके हैं।
  • इनकी प्रमुख रचनाएँ हैं – शंखमुखी शिखरों पर, नाटक जारी है, इस यात्रा में, रात अब भी मौजूद है, बची हुई पृथ्वी, घबराए हुए शब्द, भय भी शक्ति देता है, अनुभव के आकाश में चाँद, महाकाव्य के बिना, ईश्वर की अध्यक्षता में, खबर का मुँह विज्ञापन से ढँका है आदि।
  • ज्ञातव्य है कि 27वां व्यास सम्मान ममता कालिया को उनके उपन्यास दुक्खम-सुक्खमके लिए प्रदान किया गया था।
  • व्यास सम्मान भारतीय साहित्य के लिए दिया जाने वाला ज्ञानपीठ पुरस्कार के बाद दूसरा सबसे बड़ा सम्मान है।
  • इस पुरस्कार को 1991 में के. के. बिड़ला फाउंडेशन ने प्रारंभ किया था।
  • इस पुरस्कार के तहत चयनित व्यक्ति को प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह और 4 लाख रुपये प्रदान की जाती है।
  • यह सम्मान किसी भारतीय नागरिक की दस वर्ष की अवधि में हिंदी में प्रकाशित रचना को दिया जाता है।
  • ज्ञातव्य है कि पहला व्यास सम्मान डॉ. रामविलास शर्मा को उनके उपन्यास भारत के प्राचीन भाषा परिवार और हिंदी’ (तीन खंड में प्रकाशित) के लिए दिया गया था।

संभावित प्रश्न

प्रश्न- 14 मार्च, 2019 को वर्ष 2018 के 28वें व्यास सम्मान से किसे पुरस्कृत किए जाने की घोषणा की गई?

(a) लीलाधर जगूड़ी            (b) ममता कालिया

(c) कुंवर नारायण              (d) केदार नाथ सिंह

उत्तर – (a)

संबंधित लिंक –

https://www.thehindu.com/news/cities/Delhi/hindi-writer-leeladhar-jagudi-to-be-honoured-with-vyas-samman/article26538279.ece

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here