वर्षांत समीक्षा, 2019 : पर्यटन मंत्रालय

0
100
  • पर्यटन मंत्रालय द्वारा जारी वर्ष 2019 के वार्षिक समीक्षा में पर्यटन के विकास और प्रोत्साहन हेतु नीतियां व कार्यक्रम तथा उपलब्धियों का उल्लेख किया गया है।
  • ये उपलब्धियां निम्न हैं –
  • विश्व आर्थिक मंच के यात्रा और पर्यटन प्रतिस्पर्धात्मक सूचकांक (टीटीसीआई) में भारत 2013 में 65वें पायदान पर था, जबकि 2019 में देश 34वें स्थान पर आ गया।
  • जनवरी-नवंबर 2019 के दौरान विदेशी पर्यटन आगमन (एफटीए) की संख्या 96,69,633 थी, जबकि जनवरी, नवंबर 2018 के दौरान 93,66,478 विदेशी पर्यटन आएं।
  • विदेशी पर्यटकों की संख्या में 3.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।
  • जनवरी-नवंबर 2019 के दौरान 25,51,211 पर्यटक ई-पर्यटक वीजा पर भारत आए, जबकि जनवरी-नवंबर 2018 में यह संख्या 20,61,511 थी।
  • ई-पर्यटक वीजा पर आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या में 23.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।
  • जनवरी-नवंबर 2019 के दौरान विदेशी मुद्रा आय 1,88,364 करोड़ रही। जनवरी-नवंबर 2018 के दौरान विदेशी मुद्रा आय 1,75,407 करोड़ रुपये थी।
  • विदेशी मुद्रा आय में 7.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।
  • स्वदेश दर्शन योजना के तहत थीम आधारित पर्यटन सर्किट का विकास किया गया।
  • स्वदेश दर्शन योजना के तहत अब तक कुल 6035.70 करोड़ रुपये की 77 परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है।
  • पहचान किए गए तीर्थ स्थलों के समेकित विकास के लिए राष्ट्रीय तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक, विरासत संवर्धन मिशन (प्रसाद) योजना लागू की गई है।
  • इस योजना के तहत 840.02 करोड़ रुपये की कुल 28 परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है
  • विरासत/पर्यटन स्थलों पर सुविधाओं के विकास और इन स्थलों को पर्यटक अनुकूल बनाने के लिए विरासत स्थल अपनाएं : अपनी धरोहर अपनी पहचान परियोजना लागू की गई है। यह परियोजना पर्यटन मंत्रालय, संस्कृति मंत्रालय, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और राज्य/केंद्र शासित प्रदेश का संयुक्त प्रयास है। इस परियोजना के लिए पर्यटन मंत्रालय ने अब तक 27 समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • ई-वीजा
  • ई-वीजा में 4 उप-श्रेणियां हैं – ई-टूरिस्ट वीजा, ई-बिजनेस वीजा, ई-मेडिकल वीजा और ई-मेडिकल अटेंडेंट वीजा।
  • ई-वीजा के द्वारा 28 नामित हवाई अड्डों और 5 नामित बंदरगाहों से प्रवेश पाया जा सकता है।
  • वर्तमान में ई-वीजा योजना 169 देशों के नागरिकों के लिए उपलब्ध है।
  • ई-वीजा को उदार बनाया गया है और इसमें निम्न को शामिल किया गया है-
  • एक साल के ई-टूरिस्ट वीजा के अलावा 5 साल की अवधि का ई-टूरिस्ट वीजा लॉन्च किया गया है।
  • 5 वर्षों के इस ई-टूरिस्ट वीजा से अधिकतम 90 दिनों की बहु प्रविष्टि की जा सकती है और इसे विस्तार नहीं दिया जा सकता।
  • दो बार प्रवेश की सुविधा के साथ एक महीने के ई-टूरिस्ट वीजा को लॉन्च किया गया।
  • निजी व्यक्तियों/कंपनियों/संगठनों द्वारा आयोजित निजी सम्मेलनों के लिए ई-कॉन्फ्रेंस वीजा की सुविधा दी जाएगी। यह सुविधा सरकार/पीएसयू उद्यम के लिए दिए जाने वाले ई-कॉन्फ्रेंस वीजा के समान है।
  • देश में पर्यटन प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए सरकार ने ई-वीजा शुल्क में भारी छूट दी है।
  • सरकार ने पर्वतारोहण और ट्रैकिंग के लिए 120 पर्वत चोटियों को खोलने की अनुमति दी है। इससे देश में एडवेंचर टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा।
  • सरकार ने 1,001 रुपये से 7500 रुपये प्रति रात्रि किराये वाले होटल कमरों पर जीएसटी की दर कम करके 12 प्रतिशत कर दी है, जबकि 7501 रुपये से अधिक किराये वाले कमरों पर जीएसटी की दर कम करके 18 प्रतिशत कर दी गई है।
  • भारत पर्वआयोजित करने के लिए पर्यटन मंत्रालय को नोडल मंत्रालय बनाया गया है।
  • इस कार्यक्रम का आयोजन गणतंत्र दिवस समारोह के एक भाग के रूप में 26 से 31 जनवरी, 2019 तक दिल्ली के लाल किले में किया गया था।
  • इस आयोजन का विषय था – महात्मा के 150 वर्ष का उत्सव
  • पर्यटन मंत्रालय ने 21 जून, 2019 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर मेगा फैम टूर का आयोजन किया।
  • इस मेगा फैम टूर में 20 देशों के पर्यटन संचालकों, ट्रैवल मीडिया के प्रतिनिधियों और प्रबुद्ध नागरिकों ने भाग लिया।
  • मेगा फैम टूर के प्रतिभागियों ने 21 जून, 2019 को लाल बाग, बेंगलुरु में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस में भाग लिया।
  • पर्यटन मंत्रालय ने अतुल्य भारत पर्यटक सम्मान प्रमाणन (आईआईटीएफसी) कार्यक्रम लॉन्च किया।
  • यह प्रमाणन कार्यक्रम एक ऑनलाइन शिक्षा प्रबंधन प्रणाली है, जिसका उद्देश्य पर्यटकों को सुविधा प्रदान करने वाले प्रशिक्षित व्यक्तियों को तैयार करना है।
  • यह कार्यक्रम स्थानीय लोगों को पारंपरिक ज्ञान और स्थानीय अनुभव के उपयोग का अवसर देता है, जिससे वे पर्यटकों की सहायता कर सके और रोजगार प्राप्त कर सकें।
  • पर्यटन मंत्रालय ने अतुल्य भारत वेबसाइट को फिर से तैयार किया है।
  • इसमें भारत को एक संपूर्ण गंतव्य के रूप में दिखाया गया है।
  • इसमें आध्यात्मिकता, विरासत, एडवेंचर, संस्कृति, योग, आरोग्य आदि को शामिल किया गया है।
  • भविष्य में यह वेबसाइट हिन्दी और प्रमुख विदेशी भाषाओं में उपलब्ध होगा।
  • अतुल्य भारत का हिन्दी प्रारूप 20 अगस्त, 2019 को अशोक होटल, नई दिल्ली में आयोजित पर्यटन मंत्री सम्मेलन में लॉन्च किया गया था।
  • लद्दाख में पर्यटन की संभावनाओं का पता लगाने तथा स्थानीय अधिकारियों के परामर्श से इस संबंध में नीति-निर्माण के लिए पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री के नेतृत्व में पर्यटन मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल ने 3 से 6 सितम्बर, 2019 को लद्दाख की यात्रा की।
  • भारतीय पर्यटन और आतिथ्य संघों के परिसंघ (एफएआईटीएच) ने 23 से 25 सितम्बर, 2019 तक नई दिल्ली में इंडिया टूरिज्म मार्ट (आईटीएम) 2019 का आयोजन किया था।
  • इस आयोजन को पर्यटन मंत्रालय ने समर्थन दिया था। इस कार्यक्रम में 51 देशों के लगभग 240 अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
  • पर्यटन मंत्रालय ने 27 सितम्बर, 2019 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार- 2017-18 समारोह का आयोजन किया।
  • समारोह में विभिन्न श्रेणियों के तहत 76 पुरस्कार वितरित किए गए।
  • विश्व पर्यटन दिवस 27 सितम्बर, 2019 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में मनाया गया।
  • इस वर्ष संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन ने इस समारोह के लिए भारत का चयन किया था।
  • इस कार्यक्रम का उद्देश्य पर्यटन के सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक मूल्यों तथा सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने में पर्यटन क्षेत्र के योगदान के बारे में विश्व समुदाय को जागरूक बनाना था।
  • विश्व पर्यटन दिवस का विषय था – ‘पर्यटन और रोजगार सभी के लिए बेहतर भविष्य
  • उप-राष्ट्रपति कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे।
  • पर्यटन मंत्रालय ने 2018-19 के दौरान अतुल्य भारत के अभियान फाइंड द इनक्रेडेबल यूको विश्व स्तर पर जारी किया।
  • इस अभियान को मार्केटिंग प्राइमरी गर्वमेंट डेस्टीनेशनश्रेणी में प्रतिष्ठित पीएटीए (प्रशांत एशिया पर्यटन संघ) स्वर्ण पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया है।
  • पर्यटन मंत्रालय ने 2-13 अक्टूबर, 2019 को राष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन पर्व मनाया।
  • दिल्ली में पर्यटन पर्व का आयोजन 2-6 अक्टूबर, 2019 तक राजपथ उद्यान में किया गया।
  • पर्यटन पर्व की थीम थी – महात्मा गांधी के 150 वर्ष
  • पर्यटन पर्व के माध्यम से एक भारत श्रेष्ठ भारत के विचार को भी बढ़ावा दिया गया।
  • पर्यटन मंत्रालय ने मणिपुर राज्य सरकार के सहयोग से 23 से 25 नवंबर 2019 के दौरान इंफाल में 8वें अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन मार्ट” (आईटीएम) का आयोजन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here