वर्षांत समीक्षा – 2017: परमाणु ऊर्जा विभाग

0
325
  • कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना (केकेएनपीपी) की दूसरी इकाई (1000 मेगावाट) ने 31 मार्च, 2017 से वाणिज्यिक परिचालन शुरू किया।
  • इसके साथ, स्थापित परमाणु ऊर्जा क्षमता 6780 मेगावाट हो गई है।
  • भारत सरकार ने फ्लीट मोड में 700 मेगावाट के 10 स्वदेशी पीएचडब्ल्यूआर के निर्माण कार्य को शुरू करने तथा कुडनकुलम में 2 और रिएक्टरों की स्थापना के लिए प्रशासनिक अनुमोदन और वित्तीय मंजूरी प्रदान कर दी है।
  • 29 जून, 2017 को पहली बार कंकरीट डाले जाने के साथ केकेएनपीपी इकाई 3 और 4 का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है।
  • भारत ने अप्रैल, 2017 में बांग्लादेश के साथ दो पूरक समझौतों सहित सिविल न्‍यूक्लियर सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।
  • डीएई द्वारा विकसित एक 6 मीटर शिप बोर्न टर्मिनल (एसबीटी) को एक जहाज पर समावेशित किया गया और उसे गहरे समुद्र में तैनात किया गया।
  • बाबा बैद्यनाथ मंदिर, देवघर (झारखंड) के पवित्र शिव गंगा तालाब में एक 1000 मीटर घन जल शोधन संयंत्र का 9 जुलाई, 2017 को उद्घाटन किया गया।
  • कैंसर देखभाल के क्षेत्र में, डीएई ने पूरे देश में 6 अतिरिक्त सुविधाओं का निर्माण / उन्नयन कर बड़े पैमाने पर विस्तार कार्य शुरू किया है।
  • इससे अगले 4-5 वर्षों में 70,000 के वर्तमान आंकड़े की तुलना में दुगुने नए रोगियों को उपचार दिए जाने में मदद मिलेगी।
  • डीएई ने एक कम लागत वाली हस्‍त चालित 12-चैनल टेलि-ईसीजी मशीन विकसित की है, जो एक साथ सभी 12 ईसीजी चैनलों को रिकॉर्ड करती है और सलाह के लिए सृजित रिपोर्ट को डॉक्टर के मोबाइल फोन पर भेजती है।
  • 15 अगस्त, 2017 को बार्क (बीएआरसी) से प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के तहत मैसर्स कार्डिया लैब्स, नई दिल्ली द्वारा एटोम (ATOM) की शुरुआत की गई।
  • फ्रंटियर विज्ञान क्षेत्र में, डीएई ने गहन विषय पर अनुसंधान करने के लिए एक यूरेनियम खदान में एक छोटी भूमिगत अनुसंधान प्रयोगशाला की स्थापना की है।
  • इस साल इलेक्ट्रानिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) ने, विशेष रूप से चुनाव संबंधी उपकरण और भारतीय सेना के लिए फ़्यूज़ के कारण, रिकॉर्ड ऑर्डर हासिल किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here