राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्थान विधेयक, 2019

0
641
  • 6 फरवरी, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने राष्‍ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्‍थान विधेयक, 2019 को पेश किये जाने की मंजूरी प्रदान की।
  • इस विधेयक का उद्देश्‍य राष्‍ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्‍थान (एनआईएफटीईएम) कुंडली (हरियाणा) और भारतीय खाद्य प्रसंस्‍करण प्रौद्योगिकी संस्‍थान (आईआईएफपीटी), तंजावुर (तमिलनाडु) को राष्‍ट्रीय महत्‍व के संस्‍थानका दर्जा प्रदान करना है।
  • इस विधान से इन संस्‍थानों को अपने शैक्षिक पाठ्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने और विकसित करने, अपने शैक्षिक क्रियाकलापों में अनुसंधान की ग‍तिविधियां और उसका दर्जा बढ़ाने के लिए संचालनात्‍मक स्‍वायतता मिलेगी।
  • इससे ये विश्‍वस्‍तरीय संस्‍थान बन सकेंगे।
  • ये संस्‍थान सरकार की आरक्षण नीति लागू करेंगे और संबंधित हितधारकों के लाभ के लिए विशेष गतिविधियां भी चलायेंगे।
  • इसके बल पर ये संस्‍थान विश्‍वस्‍तरीय शिक्षण प्रदान करने और नवाचारों के इस्‍तेमाल से अनुसंधान का अनुभव प्रदान करने में समर्थ होंगे।

संभावित प्रश्न

प्रश्न- किस तिथि को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने राष्‍ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, उद्यमिता एवं प्रबंधन संस्‍थान विधेयक, 2019 को पेश किये जाने की मंजूरी प्रदान की?

(a) 6 फरवरी, 2019 को

(b) 9 फरवरी, 2019 को

(c) 6 फरवरी, 2018 को

(d) इनमें से कोई नहीं

उत्तर – (a)

संबंधित लिंक:-        

http://pib.nic.in/PressReleseDetail.aspx?PRID=1562969

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here