पारादीप में उत्पाद अनुप्रयोग और विकास केंद्र का उद्घाटन

0
150
  • 25 जून, 2020 को पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से पारादीप में इंडियन ऑयल द्वारा स्थापित उत्पाद अनुप्रयोग और विकास केंद्र (पीएडीसी) का उद्घाटन किया।
  • इंडियन ऑयल ने पारादीप में अपनी रिफाइनरी और पेट्रोकेमिकल्स परिसर के पास ही 43 करोड़ रुपये पूंजी से उत्पाद अनुप्रयोग और विकास केंद्र (पीएडीसी) की स्थापना की है।
  • पीएडीसी में 4 प्रयोगशालाएं हैं – पॉलिमर प्रोसेसिंग लैब, एनालिटिकल टेस्टिंग लैब, केमिकल एनालिसिस लैब और कैरेक्टराइजेशन लैब
  • यह तकनीकी केंद्र ग्राहकों और नए निवेशकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए 50 नवीनतम परिष्कृत प्लास्टिक परीक्षण और प्रसंस्करण उपकरणों से लैस है।
  • पारादीप स्थित पीएडीसी को भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर) द्वारा एक अनुसंधान केंद्र के रूप में मान्यता मिली हुई है।
  • उत्पाद अनुप्रयोग और विकास केंद्र (पीएडीसी) प्लास्टिक के क्षेत्र में ओडिशा और उसके आसपास नए उद्यमी विकास के लिए उद्भवन केंद्र के रूप में कार्य करेगा।
  • यह केंद्र प्लस्टिक के ढाले गए फर्नीचर, घर के सामान, सीमेंट, उर्वरक की पैकेजिंग के लिए जरूरी प्लास्टिक और बेबी डायपर, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, मास्क इत्यादि जैसी स्वास्थ्य देखरेख की चीजों जैसे प्लास्टिक के परिष्कृत सामानों के लिए उत्पाद और अनुप्रयोग विकास में ग्राहकों और निवेशकों को सहायता प्रदान करेगा।
  • यह केंद्र पारादीप प्लास्टिक पार्क और बालासोर तथा खुर्दा जैसे अन्य क्लस्टरों के निवेशकों के लिए परीक्षण और विकासात्मक गतिविधियों को अंजाम देगा।
  • केंद्र संयंत्र की स्थापना, मशीनरी और सामग्री के चयन के लिए हस्त गतिविधियों सहित संभावित और उभरते निवेशकों को आवश्‍यक उत्पाद और प्रक्रिया प्रशिक्षण प्रदान करेगा।
  • पीएडीसी गुणवत्ता आश्वासन, शिकायतों का निवारण, ग्राहक को सहायता, मानदंड अध्ययन, नए और आला दर्जे के विकास और अनुप्रयोग विकास गतिविधियों को पूरा करेगा।

संभावित प्रश्न

प्रश्न-25 जून, 2020 को पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहां पर इंडियन ऑयल द्वारा स्थापित उत्पाद अनुप्रयोग और विकास केंद्र का उद्घाटन किया?

(a) जामनगर                         (b) पारादीप

(c) मंगलुरू                           (d) नुमालीगढ़

उत्तर-(b)

संबंधित लिंक :-

https://www.pib.gov.in/PressReleasePage.aspx?PRID=1634213

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here