त्रिपुरा में बनेगा पहला विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड)

0
159
  • वाणिज्‍य और उद्योग मंत्रालय ने त्रिुपरा में पहला विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) बनाए जाने की अधिसूचना 16 दिसंबर, 2019 को जारी की है।
  • प्रस्‍तावित एसईजेड त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से 130 किलोमीटर दूर दक्षिणी त्रिपुरा के सबरूम जिले के पश्चिम जलेफा में बनाया जा रहा है।
  • यह विशेष रूप से कृषि उत्‍पादों से जुड़े प्रसंस्‍करण उद्योग के लिए होगा।
  • त्रिपुरा औद्योगिक विकास निगम की ओर से विकसित इस एसईजेड परियोजना पर करीब 1550 करोड़ रूपये की अनुमानित लागत आएगी।
  • इसमें विशेष कौशल आधारित करीब 12 हजार नौकरियों के अवसर पैदा होंगे।
  • इस विशेष आर्थिक क्षेत्र में रबड़,कपड़ा,वस्‍त्र उद्योग, बांस तथा कृषि उत्‍पादों से जुड़ी प्रसंस्‍करण इकाइयां लगाई जाएंगी।
  • चटंगाव बंदरगाह के करीब होने तथा दक्षिणी त्रिपुरा में फेनी नदी के उपर निर्माणाधीन पुल की वजह से सबरूम में बन रहे एसईजेड में निजी निवेश के अवसर बनेंगे।
  • एसईजेड बनने के बाद पहले पांच वर्षों तक यहां लगाई जाने वाली इकाइयों को आयकर अधिनियम की धारा 10 ए ए के तहत निर्यात आय पर 100 प्रतिशत की छूट दी जाएगी ।
  • इसके अलावा अगले पांच वर्षों के लिए छूट की यह सीमा 50 प्रतिशत होगी।                                     

                                                       संभावित प्रश्न

    प्रश्न- त्रिुपरा में पहला विषेश आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) बनाए जाने की अधिसूचना 16 दिसंबर, 2019 को जारी की गई। इस विशेष आर्थिक क्षेत्र के संबंध में कौन-सा तथ्य सही नही हैं?

    (a) यह अधिसूचना वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी की गई।

    (b) प्रस्‍तावित एसईजेड दक्षिणी त्रिपुरा के सबरूम जिले के पश्चिम जलेफा में बनाया जा रहा है।

    (c) यह विशेष रूप से कृषि उत्‍पादों से जुड़े प्रसंस्‍करण उद्योग के लिए होगा।

    (d) एसईजेड बनने के बाद पहले पांच वर्षों तक यहां लगाई जाने वाली इकाइयों को आयकर अधिनियम की धारा 10 ए ए के तहत निर्यात आय पर 75 प्रतिशत की छूट दी जाएगी ।

    उत्तर – (d)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here