आईएनएस क्लिटन भारतीय नौसेना में शामिल

0
459
The Union Minister for Defence, Smt. Nirmala Sitharaman at the commissioning ceremony of INS Kiltan into the Indian Navy, at Naval Dockyard, Visakhapatnam on October 16, 2017. The Chief of Naval Staff, Admiral Sunil Lanba and other dignitaries are also seen.
  • रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने 16 अक्टूबर, 2017 को नौसेना डॉकयार्ड विशाखापट्नम में संपन्न एक भव्य समारोह में आईएनएस क्लिटन (पी 30) को राष्ट्र को समर्पित किया।
  • यह प्रोजेक्ट 28 (कमोर्टे क्लास) के तहत बनाया गया तीसरा एंटी-पनडुब्बी वारफेयर (एएसडब्लू) युद्धपोत है।
  • इसे गार्डन रिच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स, कोलकता द्वारा तैयार किया गया है।
  • इस युद्धपोत की अवधारणा 10 अगस्त, 2010 को रखी गई थी और 26 मार्च, 2013  को इसकी शुरूआत की गई थी।
  • इसके पहले समुद्री परीक्षण की शुरुआत 6 मई, 2017 को हुई थी तथा आखिरकार 14 अक्टूबर, 2017 को जीआरएसई द्वारा इसे भारतीय नौसेना को सौंप दिया गया था।
  • परमाणु, जैविक और रासायनिक (एनबीसी) युद्ध की स्थितियों में लड़ने में सक्षम इस युद्धपोत में 80 फीसदी से अधिक उपकरण और प्रणाली स्वदेशी निर्मित है।
  • इस प्रमुख युद्धपोत पर पहली बार समग्र अधिरचना पर आधारित हथियार और सेंसर स्थापित किए गए हैं।
  • एएसडब्लू सक्षम हेलिकॉप्टर के अलावा हथियारों में भारी वजन टारपीडो, एएसडब्ल्यू रॉकेट, 76 एमएम कैलिबर मिडियम रेंज बंदूक और दो बहु-बैरल 30 एमएम बंदूकें शामिल हैं।
  • युद्धपोत का नाम पुराने आईएनएस क्लिटन (पी 79) एक पेट्या क्लास एएसडब्ल्यू युद्धपोत से लिया गया है जिसे 18 वर्ष की सेवा के बाद जून, 1987 को बंद कर दिया गया था।

संभावित प्रश्न 

प्रश्न:- प्रोजेक्ट 28 (कमोर्टे क्लास) के तहत बनाया गया तीसरा एंटी-पनडुब्बी वारफेयर (एएसडब्लू) युद्धपोत कौन-सा है जिसे 16 अक्टूबर, 2017 को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया?

(a) आईएनएस क्लिटन    (b) आईएनएस कमोर्टा

(c) आईएनएस कदमत्त      (d) आईएनएस कवरत्ती

उत्तर- (a)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here